उत्तराखण्ड- तांत्रिक ने लूट ली विवाहिता की आबरू

खबर शेयर करें -

काशीपुर- प्रेत बाधा से निजात दिलाने के नाम पर विवाहिता को विश्वास में लेकर एक तांत्रिक ने उसकी आबरू लूट ली। पीड़िता ने प्रेम विवाह किया था। इसी का फायदा उठाकर जेठ ने भी पुत्री समान छोटे भाई की बहू को दुष्कर्म का शिकार बनाया। पीड़िता ने जब अन्याय के िखलाफ आवाज उठाई तो स्थानीय पुलिस ने मामले को झटके में दरकिनार कर दिया। घटना के लंबे समय बाद कोर्ट के निर्देश पर फिलहाल आरोपी पति समेत सास ससुर जेठ को मामले में नामजद करते हुए एक तांत्रिक को भी पुलिस ने कानून के दायरे में लिया है। घटना के बारे में न्यायालय में प्रार्थना पत्र देकर कोतवाली थाना क्षेत्र निवासी एक महिला ने बताया कि लगभग 8 वर्ष पूर्व उसकी शादी जुम्मा वाली गली सरकारी नल के पास हरथला मुरादाबाद निवासी इसरार पुत्र रमजानी के साथ मुस्लिम रीति रिवाज से संपन्न हुई।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि शादी के कुछ दिन ठीक-ठाक भी थे लेकिन इसके बाद उसकी अचानक तबीयत खराब रहने लगी। इस दौरान सास रहमत, ससुर रमजानी, जेठ इंतजार और पति इसरार ने एक मुस्लिम तांत्रिक को बुलाया। चारों ने मिलकर विवाहिता को एक कमरे में बंद कर दिया। तांत्रिक ने देखने की बात बताया कि विवाहिता पर हवाई असरात है। इलाज के नाम पर तांत्रिक ने उसे कपड़ा सुना कर अंधेरे कमरे में बंद कर लिया। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि उसे हल्का होश था। इस दौरान तांत्रिक ने उसे निर्वस्त्र कर उसके साथ दुष्कर्म किया।

पीड़िता का आरोप है कि तांत्रिक उसके साथ उपचार के नाम पर काफी समय तक लगातार दुष्कर्म करता रहा। इस बीच पीड़िता ने यह बात ससुराल वालों को बताइए लेकिन किसी ने उसकी बात पर विश्वास नहीं किया। इसी बीच जेठ इंतजार भी उस पर गंदी निगाह रखने लगा। मौका पाकर जेठ ने उसके साथ दुष्कर्म किया। वह उसके गुप्तांगों से अक्सर छेड़छाड़ किया करता था। पीड़िता के मुताबिक उसका पति नशे का आदी था और दिल्ली में रहा करता था। क्योंकि पीड़िता ने अपने मर्जी के मुताबिक विवाह किया था इसलिए इसी का फायदा उठाकर जेठ उसके साथ मौका पाकर लगातार दुष्कर्म करने लगा। एक दिन पीड़िता ने हिम्मत जुटाई और वह मायके पहुंच गई। उसने मायके वालों को हकीकत बताई। वह मायके में रहने लगी। इस बीच 2022 की 5 दिसंबर को जेठ इंतजार मायके जा धमका। उसने कहा कि पीड़िता उससे शादी करें इसके लिए वह अपनी पत्नी को भी तलाक दे देगा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: बैंक कर्मचारी से आईफोन चुरानेवाली शातिर महिला ऐसे पकड़ी गई
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: नैनीताल और चमोली की इस तहसील के नाम परिवर्तन करने को भारत सरकार की मंजूरी

पीड़िता जब इसके लिए तैयार नहीं हुई तो उसने एक बार फिर से पीड़िता को अकेला पाकर उसके साथ दुष्कर्म करना शुरू किया। इस बीच पीड़िता की मां और बहन ने आकर किसी तरह इंतजार के चुंगल से उसे छुड़ाया। आरोपी जेठ जान से मारने की धमकी देते हुए वहां से फरार हो गया। पीड़िता का आरोप है कि उसने मामले की शिकायत स्थानीय पुलिस से की लेकिन पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। फिलहाल कोर्ट के निर्देश पर पुलिस ने पति समेत चारों आरोपियों को नामजद करते हुए तांत्रिक को भी कानून के दायरे में लेकर मामले की गंभीरता से जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments