Sonali Bisht

उत्तराखंडः (शाबास भुली)-दादा-नाना और पिता कर चुके है भारत मां की सेवा, अब बेटी बनी वायुसेना में फ्लाइंग अफसर

खबर शेयर करें -

Puari Gadhwal News: देवभूमि की बेटियां आज हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रही है। एक दौर था जब पहाड़ की बेटियां सिर्फ पहाड़ांे तक ही सीमित रह जाती है। लेकिन राज्य गठन के बाद पहाड़ की बेटियों ने अपनी प्रतिभा का ऐसा डंका बजाया कि देश ही नहीं विदेश मेें भी जमकर तारीफ हुई। क्रिकेट के मैदान से लेकर बाॅलीवुड तक बेटियों ने देवभूमि का नाम रोशन किया। वहीं देश सेवा मंे हमेशा ही अव्वल रहे उत्तराखंड को विगत सालों से बेटियों ने और आगे बढ़ाने का काम किया। अब पौड़ी गढ़वाल जिले के रणस्वा गांव निवासी सोनाली बिष्ट भारतीय वायुसेना में फ्लाइंग अफसर बन गई है। बेटी की सफलता पर परिवार में खुशी का माहौल है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी - प्राधिकरण का अवैध निर्माण कार्य पर शिकजा, यहां हुई कार्यवाही

गौरतलब है कि सोनाली बिष्ट की विगत 21 जनवरी 2023 को वायुसेना में कमीशन प्राप्त कर फ्लाइंग अफसर बनी है। सोनाली की मूल रूप से पौड़ी गढ़वाल जिले के रणस्वा गांव निवासी है। वर्तमान में सोनाली का परिवार कोटद्वार क्षेत्र के कोटडीढ़ाग के वार्ड नंबर 3 में रहता है। सोनाली के पिता हसवंत सिंह बिष्ट भारतीय सेना से सेवानिवृत्त है। उनके दादा भोपाल सिंह बिष्ट, नाना सूबेदार मोहन सिंह नेगी भी सेना में रहकर मां भारती की सेवा कर चुके हैं। बड़े भाई शुभम बिष्ट भी भारतीय सेना कार्यरत हैं तथा वर्तमान में उनकी तैनाती बतौर कैप्टन अलवर राजस्थान में है। ऐसे मंे अब बेटी का चयन सेना में होने पर घर में खुशी का माहौल है।

सोनाली ने शुरूआती शिक्षा कोटडीढांग के ज्ञानोदय विद्यालय से जबकि 12वीं की पढ़ाई डीएवी कॉलेज से की है। इसके बाद सोनाली ने बीटेक किया। फिर उन्होंने एक वर्ष तक विप्रो में जाब की। वर्ष 2020 में उनका चयन फ्लाइंग अफसर के लिए हो गया, जिसके बाद एएफटीसी से दो वर्ष का कठिन प्रशिक्षण प्राप्त कर बीते 21 जनवरी को वह भारतीय वायुसेना सेना में शामिल हो गई।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments