उत्तराखंड- (गजब) यहां दुल्हन को पसंद नही आया लहंगा तो शादी से किया इनकार

खबर शेयर करें -

Haldwani News- हल्द्वानी कोतवाली में शादी को लेकर एक अजीबोगरीब मामला सामने आया जिसमें दुल्हन के लिए दूल्हे पक्ष ने लखनऊ से 10000 का लहंगा मंगाया, लेकिन दुल्हन को पसंद ना आने पर युवती ने शादी तोड़ दी। जबकि बीते जून महीने में युवक और युवती की सगाई हो चुकी थी, बुधवार को दोनों पक्ष कोतवाली पहुंचे तो हंगामा हो गया, पुलिस के हस्तक्षेप के बाद देर शाम तक समझौता हो पाया।

जानकारी के मुताबिक हल्द्वानी निवासी एक युवती की शादी 5 नवंबर को अल्मोड़ा जिले के एक युवक से होनी तय थी और पिछले जून महीने में दोनों की सगाई हो चुकी थी, बुधवार को कोतवाली में पहुंचे युवक पक्ष के लोगों ने पुलिस को बताया कि सगाई में तय हुआ था कि लहंगा युवक पक्ष बनाकर देगा, युवक के पिता ने लखनऊ से ₹10000 का लहंगा मंगवाया, युवती के घर लहंगा पहुंचा तो उसे पसंद ना आने की बात कही गई। इस पर युवती के होने वाले ससुर ने उसे अपना एटीएम कार्ड दे गए और मनपसंद लहंगा मंगाने को कहा, लेकिन युवती शादी से मुकर गई 30 अक्टूबर को दोनों पक्षों में शादी न करने की बात को लेकर समझौता भी हुआ। जिस पर युवक के पिता व रिश्तेदारों ने युवती के घर पहुंचकर समझौते के तौर पर ₹100000 दे दिए इसका वीडियो भी उनके पास उपलब्ध है।

जिसके पश्चात कुछ दिन बाद ही युवती पक्ष के लोगों ने फिर शादी की बात छेड़ दी और बुधवार को युवक के परिजन व रिश्तेदार तथा युवती के परिजन कोतवाली पहुंचे दोनों ने एक दूसरे के ऊपर कई आरोप लगाए युवती पक्ष युवक को कोतवाली बुलाने की जिद पर अड़ा रहा उन्होंने कहा कि शादी में युवक ने विवाद खड़ा किया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड - सगे भाई की पत्नी को कुल्हाड़ी से वार कर उतारा मौत के घाट
यह भी पढ़ें 👉  देश में हीट वेब से 11 राज्यों में लू का कहर

उधर युवक पक्ष अब युवती से शादी नहीं करने की बात कह रहा है उनका कहना था कि युवती ने पहले ही उनकी काफी बेइज्जती करा दी है। वहीं पुलिस ने बताया कि देर शाम कोतवाली में दोनों पक्षों के बीच शादी न करने पर समझौता हो गया।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments