उत्तराखंडः पीआरडी जवानों को मिलेगा 300 दिन का रोजगार, महिलाओं को होगा ये फायदा

खबर शेयर करें -

Uttarakhand News: अब पीआरडी जवानों को 300 दिन का रोजगार मिलेगा। विभाग ने इसका प्रस्ताव तैयार कर लिया है, जिसे कैबिनेट में जल्द लाया जाएगा। विभाग में नौ हजार जवान हैं, जिनके विभिन्न विभागों में उनके तैनाती के रास्ते खुलेंगे। पीआरडी जवानों की सेवानिवृत्ति की आयु भी 50 से बढ़ाकर 60 वर्ष की जाएगी और महिला पीआरडी को मातृत्व अवकाश के लिए नियमावली संशोधित की जाएगी। यह बात मंत्री रेखा आर्य ने की।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड -(Good News) पिथौरागढ़ से देहरादून हवाई सेवा अब सप्ताह में 6 दिन

रेखा आर्य ने विधानसभा स्थित कक्ष में विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक में कहा कि, पीआरडी कर्मचारियों की अब तक शांति व्यवस्था को लेकर पुलिस के साथ ड्यूटी लगाई जाती है। अब खेल प्रशिक्षक, क्लर्क, माली, चैकीदार, कंप्यूटर ऑपरेटर, वाहन चालक आदि के रूप में विभिन्न विभागों में उनकी तैनाती का रास्ता खुलने जा रहा है। जिस विभाग में पीआरडी जवानों को लगाया जाएगा, मानदेय की व्यवस्था उस विभाग को करनी होगी। सेवा में रहते हुए पीआरडी जवानों की मृत्यु पर उनके आश्रित को नियुक्ति के लिए भी नियमावली में संशोधन के निर्देश दिए गए हैं।

पीआरडी जवानों की सेवानिवृत्ति पर एकमुश्त धनराशि मिले इसके लिए उनके एक दिन के मानदेय में सरकार अंशदान जोड़कर एकमुश्त आर्थिक सहायता देगी। जल्द शासनादेश जारी किया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  मौसम अपडेट- उत्तराखंड के कुछ जिलों में मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक मौसम बिगड़ने के आसार

बैठक में निर्णय लिया गया है कि पीआरडी जवानों को इसी सप्ताह मानदेय के रूप में 14 करोड़ से अधिक का भुगतान किया जाएगा। इसके अलावा एसडीआरएफ के साथ ड्यूटी में लगे 59 जवानों का मानदेय भी जल्द जारी किया जाएगा। पीआरडी जवानों की भर्ती में शैक्षिक योग्यता आठवीं कक्षा पास के स्थान पर 10वीं की जाएगी। वहीं भर्ती की आयु सीमा 18 से 45 वर्ष के स्थान पर 18 से 30 वर्ष की जाएगी। निदेशालय स्तर पर इसका प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments