उत्तराखंड -पौड़ी की भिटाई गांव की आरुषि बनी पायलट, एस्ट्रोनॉट बनने का सपना

खबर शेयर करें -

पौड़ी – पहाड़ों में जीवन आसान नहीं है, लेकिन यहां की महिलाएं और बेटियां इन कठिनाइयों से पार पाने की कला जानती हैं। इस राज्य की कई बहादुर और प्रतिभाशाली महिलाओं ने अपना नाम रोशन किया है। हम बात कर रहे हैं ऐसी ही एक शख्सियत हैं उत्तराखंड के पौड़ी की रहने वाली आरुषि नेगी की। आरुषि ने सफलतापूर्वक पायलट बनकर प्रदेश का नाम रोशन किया है।

पायलट बनने के बाद अब एस्ट्रोनॉट पर है नजर
लेकिन उसकी सफलता की चाहत यहीं खत्म नहीं होती, अब वह एक अंतरिक्ष यात्री बनना चाहती है। आरुषि जो कि पौडी के भिटाई गांव की रहने वाली है। पायलट बनने के बाद जब वह पहली बार अपने पैतृक गांव पहुंची तो गांव वालों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

उन्होंने बताया कि जब वह घर पहुंचीं तो घर पर बधाई देने वालों का तांता लग गया। पौडी के ग्रामीणों और विभिन्न संगठनों ने आरुषि का जोरदार स्वागत किया। उनकी वापसी पर उन्होंने विभिन्न स्थानों पर मिठाइयाँ भी बाँटीं। आरुषि 2019 से कनाडा में रह रही थीं और उन्होंने साइंस और एविएशन में ऑनर्स में डुअल डिग्री कोर्स किया था।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल:(बड़ी खबर) बेतालघाट हादसे में दो लोगों मौत, 4 हल्द्वानी रेफर
यह भी पढ़ें 👉  हल्दुचौड़: लगन और मेहनत से सेना में लेफ्टिनेंट बने रक्षित सुयाल

जिसके बाद उन्हें पायलट का लाइसेंस मिल गया। इस उपलब्धि से जहां आरुषि नेगी के माता-पिता बेहद खुश हैं, वहीं ग्रामीणों ने भी मिठाइयां बांटकर अपनी खुशी का इजहार किया है। आरुषि की मां हिमानी नेगी ने बताया कि आरुष का बचपन से ही अंतरिक्ष यात्री बनने का सपना है। पायलट बनकर उन्होंने इस दिशा में कदम बढ़ाया है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल : (बड़ी खबर) यहां हादसा, पिकअप खाई में गिरी, 14 घायल

पिता केसर सिंह नेगी ने कहा कि उन्होंने अपनी बेटी के सपनों को कभी टूटने नहीं दिया। वे अपनी बेटी को विदेश भेजते हैं और आज उनकी बेटी पायलट बनकर घर लौट आई है। पायलट बनने के बाद आरुषि अब अंतरिक्ष यात्री बनने का सपना देख रही हैं।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments