Aknur Motors, Bindukhatta

उत्तराखंड- कांग्रेस में कोल्डवार शुरू, हरीश रावत के नए ट्वीट ने फिर से मचाई खलबली

Bansal Jewellers Ad - Khabar Pahad_Compressed
खबर शेयर करें
  • 115
    Shares

आगामी विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियों को छोड़, कांग्रेस, आंतरिक गुटबाजी और प्रदेश के शीर्ष नेताओं के प्रतिद्वंद्विता के कोल्ड वॉर से गुजर रही है, प्रदेश में कांग्रेस के भीतर उठ रहे ज्वार भाटा का गुबार सोशल मीडिया में दिखाई दे रहा है एक ओर हरीश रावत के समर्थक हैं तो दूसरी ओर प्रीतम और इंदिरा के समर्थक इन सबके बीच पार्टी की मर्यादा तार-तार कर अब आमने सामने का घमासान होने लगा है, इसी बीच हरीश रावत के कांग्रेस को एक होटल की चारदीवारी में कैद में रहने की बात कहने के बाद चौतरफा घमासान शुरू हुआ, जिसके बाद आज और फिर हरीश रावत ने एक ट्वीट किया है।

ankur motors ad

यह भी पढ़ें👉 हल्द्वानी- सरकारी स्कूलों के 46 हजार बच्चों के खातों में डाले जाएंगे 2.76 करोड़, पढ़िए पूरी खबर

हरीश रावत ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित होने को लेकर संकोच कैसा ?अगर किसी को भी मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित कर दिया जाए तो मैं उसके पीछे खड़ा रहूंगा. हरीश रावत ने कहा कि रणनीति के दृष्टिकोण से यह भी आवश्यक है कि हम भाजपा द्वारा राज्यों की जीत के लिए अपनाए जा रहे फार्मूले का स्थानीय तोड़ निकालें और तोड़ यही हो सकता है कि भाजपा का चेहरा बनाम कांग्रेस का चेहरा चुनाव में लोगों के सामने रखा जाए ताकि लोग स्थानीय सवालों के तुलनात्मक आधार पर निर्णय करें, हरीश रावत ने यह भी सवाल उठाया है कि आखिर अचानक सामूहिकता क्यों याद आ गई?

जब किसी भी निर्णय में उन्हें भी एआईसीसी का दरवाजा खटखटाना पढ़ता हुआ उस समय सामूहिकता का पालन क्यों नहीं होता है आखिर क्यों पार्टी के आधिकारिक पोस्टरों से मेरा नाम और चेहरा स्थान नहीं आ पाया, मैंने तो कभी सवाल नहीं खड़े किए ? यही नहीं हरीश रावत ने यह भी कहा कि कभी-कभी तो उन्हें यह संदेश रहता है कि पार्टी के मंचों पर उन्हें स्थान मिल पाएगा कि नहीं, आज उन्होंने स्वयं असमंजस को हटाया है तो ऐसा दनादन क्यों हो रहा है।

यह भी पढ़ें👉 हल्द्वानी- इंडो-नेपाल बॉर्डर सड़क परियोजना स्वीकृत, सांसद भट्ट ने ऐसे जताया PM का आभार

गौरतलब है कि यह शुरुआत कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव के उत्तराखंड आगमन के कुछ दिन बाद तब हुई जब हरीश रावत ने देवेंद्र रावत को धन्यवाद करते हुए यह ट्वीट किया कि अब पार्टी को मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित कर देना चाहिए जिसके बाद इंदिरा हृदयेश ने कहा कि कांग्रेस में मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करने की परंपरा नहीं है और यहीं से शुरू हुआ कांग्रेस का कोल्ड वार….. जो अभी कहां जाकर रुकेगा कहा नहीं जा सकता।

यह भी पढ़ें👉 देहरादून- बर्ड फ्लू के चलते इन राज्यों से पोल्ट्री उत्पादों कि उत्तराखंड में NO ENTRY

Ad-Website-Development-Haldwani-Nainital
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x