Ad

उत्तराखंड: (अजब- गजब)- यहां पत्नी ने बेटी की शादी को संजोये थे सपने, पिता घर से रूपये लेकर फरार…

Ad - Bansal Jewellers
खबर शेयर करें

HARIDWAR NEWS- अभी तक आपने चोरी की कई घटनाएं सुनीं और पढ़ी होगीं। लेकिन हरिद्वार में गजब की चोरी हो गई जब एक व्यक्ति ने खुद अपने ही घर में चोरी करडाली। जिसके बाद पत्नी ने इसकी शिकायत पुलिस से की। कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस ने पिता समेत पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। आइये जानते है क्या है पूरा मामला…

जानकारी के अनुसार हरिद्वार निवासी शिकायतकर्ता महिला ने बताया कि वर्ष 1997 में उसकी शादी हुई थी। इसके बाद वर्ष 2012 में तलाक हो गया। वह पति से अलग रहकर अपनी दोनों बेटियों के साथ नवोदय चौक के पास किराये पर रहने लगी। अपनी रोजी रोटी के लिए वह सिडकुल की एक कंपनी में काम करने लगी। तभी उसकी जान-पहचान जून 2012 में श्याम पुत्र मुंशीलाल के साथ हुई। बातें आगे बढ़ी तो दोनों ने शादी करने का मन बनाया।

महिला का आरोप है कि श्याम ने खुद को उस समय अविवाहित बताकर विवाह का प्रस्ताव रखा। इसके बाद अगस्त 2012 में शिव मन्दिर रोशनाबाद में विवाह कर लिया। अब संगीता श्याम के घर पर आकर रहने लगी। आरोप है कि बाद में श्याम ने दोनों पुत्रियों के साथ मारपीट गाली-गलौच करना शुरू कर दिया। इसके बाद धीरे-धीरे खर्च देना बंद कर दिया।

पीडि़ता संगीता का कहना है कि वह अपनी बड़ी बेटी की शादी की तैयारी करने लगी। शादी के लिए उसने तीन लाख रुपये जोड़े। लेकिन उसका पति श्याम रूपये लेकर गायब हो गया। इसके बाद जब वह ससुराल पहुंची तो पता चला कि उसका पति पहले से विवाहित है। उसकी पहली पत्नी वापस आ गयी। ऐसे में श्याम अपनी पहली पत्नी के साथ रहने लगा। उसने जब विरोध किया तो पति के परिवार वालों ने मारपीट कर दी। अब कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस ने श्याम पुत्र मुंशीलाल पति, सास चन्द्रा नीलम ननद, जय कश्यप उर्फ विशाल देवर निवासीगण तरती बाजा गढी मौहल्ला थाना पुवायाँ जिला शाहंजहांपुर यूपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Ad
Ad
Ad
Ad
यह भी पढ़ें 👉  रेलवे ने दी राहत भरी खबर काठगोदाम से इन ट्रेनों का संचालन होगा
अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments