हल्द्वानी- गायक डॉ राकेश रयाल का ‘जाणु छो बॉर्डर प्यारी’ गीत हुआ रिलीज, आप भी ले आनंद

खबर शेयर करें
  • 69
    Shares

हल्द्वानी- उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी के जनसंपर्क अधिकारी डॉ0 राकेश रयाल द्वारा रचित और गाया हुआ पहला गढ़वाली गीत यूट्यूब में आज रिलीज हो गया है. आरसी म्यूजिक (RC Music) यूट्यूब चैनल में 7 मिनट 31 सेकंड के इस गीत को आज रिलीज किया गया है वर्तमान समय में भारत चीन के बीच चल रही तनातनी के दौर में एक सैनिक सीमा में तैनाती के लिए जाते समय अपनी पत्नी से वादा करता है कि वह जल्द जीतकर घर लौटेगा इसी वार्ता विशेष पर इस गीत को डॉ0 राकेश रयाल द्वारा अपनी सुंदर आवाज में गाया गया है साथ ही अनीशा रांगड़ ने भी सुरीली आवाज के साथ इस गीत में डॉक्टर राकेश रयाल का साथ दिया है।

ankur motors ad

कौथिग, बँटवारु, चक्रचाल, गोपीभिना जैसी उत्तराखंडी फिल्मों के मशहूर निर्देशक और कलाकार अशोक मल का निधन

बहुमुखी प्रतिभा के धनी डॉ राकेश रयाल लंबे समय से गीत गाते आ रहे हैं लेकिन यह मौका इसलिए विशेष है क्योंकि उनका पहला गढ़वाली गीत आज रिलीज हुआ है “Khabar pahad “खबर पहाड़” ” इस युवा उभरते हुए गीतकार के उज्जवल भविष्य की कामना करता है, नीचे यूट्यूब में देखिए डॉ राकेश रयाल का यह गीत जिसके बोल हैं..’जाणु छो बॉर्डर प्यारी’…

गीतकार एवं गायक – डॉ राकेश रयाल, गायिका – अनिशा रांगड संगीत – शैलेन्द्र (शैलू) मिक्स मास्टर – ए वायरस रिकार्डेड – दून स्टूडियो देहरादून

डॉ0 राकेश रयाल, पत्रकारिता एवं संचार में एम0 फिल0 तथा डी0 फिल0 हैं। मीडिया के अकादमिक एवं प्रोफेशनल क्षेत्र में 17 वर्षों का अनुभव है। मीडिया में 4 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं, एक पुस्तक अभी प्रकाशाधीन है। 18 अंतराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय शोध पत्र प्रकाशित हैं। हे0 न0 ब0 ग0 विश्वविद्यालय परिसर टिहरी में मीडिया विषय में 7 साल तक अध्यापन कार्य किया, तत्पश्चात उत्तराखंड मुक्तविश्वविद्यालय के मीडिया बिषय में ही अकादमिक परामर्शदाता, वरिष्ठ अकादमिक एसोसिएट तथा अभी विश्वविद्यालय के जनसम्पर्क अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं।
डॉ0 रयाल को वचपन से ही अपनी बोली अपनी भाषा से अत्यधिक लगाव रहा है। वचपन से ही गाने और नाचने का शौक रहा। पढ़ाई के साथ साथ हारमोनियम ढोलक बजाना तथा मंचों पर सांस्कृतिक कार्यकर्मो में भाग लेना, पहाड़ी गीत गाना और पहाड़ी नृत्य करने में विशेष रुचि रही।
अब डॉ0 रयाल इस “आर0 सी0 म्यूजिक’ नाम के पहाड़ी यूटुब चैनल से जहां गढ़वाली लोक गीतों में रुचि रखने वाले लोगों का समय समय पर अपने गीतों से मनोरंजन करेंगे , वहीं गढ़वाली भाषा तथा संस्कृति के सरंक्षण के लिए भी आप लोगों के सहयोग से कार्य करेंगे।

guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x