हल्द्वानी-(बड़ी खबर) DM वंदना के निर्देश, टीचरों को चैक करने को स्कूलों में औचक निरीक्षण करें शिक्षा अधिकारी

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी-कैम्प कार्यालय, हल्द्वानी में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में शिक्षा विभाग की विभिन्न परियोजनाओं, सीएम घोषणा व राज्य समग्र परियोजना, प्राथमिक, माध्यमिक शिक्षा की विस्तार से समीक्षा बैठक आयोजित हुई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी को विभागीय जांच के कारण लंबित शिकायतों के सम्बन्ध में सम्बन्धित खंड विकास अधिकारी को जाँच अधिकारी से समन्वय कर जाँच उपरांत समस्या निस्तारित करने के निर्देश दिए। इन सबकी मोनिटरिंग मुख्य शिक्षा अधिकारी द्वारा की जायगी।

शिक्षा के उन्नयन व सभी माध्यमिक विद्यालयों में विज्ञान, गणित एवम अंग्रेजी के शिक्षकों की उपलब्धता बनी रहे, इसके लिए मुख्य शिक्षा अधिकारी व्यवस्था सुनिश्चित करें। शिक्षा विभाग यह प्राथमिकता के आधार पर यह सुनिश्चित करें की शिक्षकों रि-शफलिंग में इस बात का ध्यान रखा जाए कि शिक्षकों को अन्यत्र शिफ्ट करने में भौतिक दूरी कम से कम हो जिससे शिक्षकों को भी समस्या न हो। हमारा उद्देश्य समस्त विद्यालय में यथा सम्भव शिक्षकों की उपलब्धता को बनाये रखना है जिससे विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षा मुहैया कराई जा सके।

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य रूप से हो, इसके लिए सम्बन्धित खण्ड शिक्षा अधिकारी विद्यालयों में औचक निरीक्षण करें। प्रत्येक माह खण्ड शिक्षा अधिकारी विद्यालयों के औचक निरीक्षण की रिपोर्ट मुख्य शिक्षा अधिकारी को उपलब्ध कराएंगे। मुख्य शिक्षा अधिकारी अपने स्तर से मासिक रिपोर्ट सत्यापन कर न्यून औचक निरीक्षण वालों पर कार्यवाही करेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून : (बड़ी खबर) हीट वेब से लेकर बारिश तक, ऐसा रहेगा मौसम का हाल
यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: बैंक कर्मचारी से आईफोन चुरानेवाली शातिर महिला ऐसे पकड़ी गई

कक्षा 09 से 12 तक के विज्ञान व गणित के टॉपर बच्चों को विज्ञान क्षेत्र के अत्याधुनिक तकनीकी से रूबरू कराया जाए। इसके लिए जिलाधिकारी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी टॉपर बच्चों को चिन्हित करते हुए एरीज व यू कोस्ट के सहयोग से ओरिएंटेशन कार्यक्रम हेतु तैयारी करें। बच्चों को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रोबोटिक्स, ड्रोन , रिमोट सेंसिंग, स्पेस तकनीक के साथ ही अन्य क्षेत्रों की करियर कॉउंसीलिंग की जाए।

जिलाधिकारी ने खण्ड शिक्षा अधिकारी को उनके क्षेत्र में निर्माणधीन कार्यों का सत्यापन करने, आर ई ऐस को श्रेणी सी के विद्यालयों के प्राकलन हेतु प्रतिमाह 80 प्रस्ताव तैयार कर टीएसी उपरांत निदेशालय को प्रेषित करने के निर्देश दिए। श्रेणी सी वाले विद्यालयों में साइट की आवश्यकता अनुसार प्राकलन बनाए जाने होते है जिसके लिए आर ई ऐस अधिकृत है। श्रेणी सी में लगभग 534 विद्यालयों के प्रस्ताव तैयार किये जाने है। आपदा में क्षतिग्रस्त विद्यालयों के प्रस्ताव यथाशीघ्र बनवाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर मुख्य शिक्षा अधिकारी के एस रावत, जिला अर्थ एवम संख्याधिकारी डॉ एम एस नेगी, खण्ड शिक्षा अधिकारी मौजूद थे

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments