देहरादून- शासन ने फर्जी जाति प्रमाण पत्र के सहारे नौकरी पाने वाली अधिकारी को किया बर्खास्त

खबर शेयर करें -

Dehradun News- शासन ने एक बड़ा फैसला लेते हुए अनुसूचित जाति के प्रमाण पत्र के सहारे नौकरी पाने वाली महिला अधिकारी को बर्खास्त कर दिया है यह अधिकारी जसपुर में बाल विकास परियोजना अधिकारी के तौर पर तैनात थी इस अधिकारी पर आरोप है कि वह पूर्व में सामान्य वर्ग से आती थी तथा उसका उसके पास कोई आरक्षण नहीं था लेकिन शादी के उपरांत अनुसूचित जाति के व्यक्ति से शादी करने के बाद उसने अनुसूचित जाति का जाति प्रमाण पत्र बनाकर नौकरी पाई।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी -(दुखद) चुनाव ड्यूटी से लौट रहे टीचर की हादसे में मौत

उत्तराखंड शासन ने उधम सिंह नगर के जसपुर क्षेत्र की बाल विकास परियोजना अधिकारी लक्ष्मी टम्टा को बर्खास्त करने के आदेश जारी किए हैं, आरोप है कि लक्ष्मी टम्टा ने अनुसूचित जाति के फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर 1988 में नौकरी पाई थी। विभिन्न स्तरों पर हुई जांच के आधार पर इसकी पुष्टि हुई है, शादी से पूर्व लक्ष्मी टम्टा ब्राह्मण परिवार से थी और उनका नाम लक्ष्मी पंत था लेकिन पति की जाति के आधार पर उन्होंने दूसरा प्रमाण पत्र बनाया, ।लक्ष्मी से रिकवरी और अपराधिक धाराओं में मुकदमा भी दर्ज हो सकता है, निदेशक हरिचंद सेमवाल ने आदेश जारी कर दिया है, मामला हाई कोर्ट में जाने के बाद यह फैसला लिया गया।

अपने मोबाइल पर ताज़ा अपडेट पाने के लिए -

👉 व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

👉 फेसबुक पेज़ को लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

हमारे इस नंबर 7017926515 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें

Subscribe
Notify of

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments